..आज “बेटी दिवस” है..कन्या भ्रूण हत्या को रोकने एवं जन जागरूकता के लिए राष्ट्रीय बेटी दिवस ..भारतीय समाज में , परिवारों में लड़कियों की स्थिति हमेशा से विमर्श का विषय रही है और आगे भी रहेगी ..पर खुशकिस्मती से मुझे और मेरी बहन को कभी अपने लड़की होने के लिए अफ़सोस नहीं करना पड़ा..हमारे परिवार के स्वस्थ माहौल के लिए हम दोनों बहने हमारी मम्मी की आभारी रहेंगी …जिन्होंने हमेशा हमें प्रोत्साहित किया और जीवन के प्रति एक सुलझा नजरिया दिया …कोशिश है अपनी बेटी को एक अच्छा इंसान बनने में मदद कर सकूँ ..

ये नीले रंग की साड़ी उपाड़ा सिल्क की सुनहरी जरी के पल्लू और बॉर्डर की साड़ी है जो मैंने अपनी बिटिया के जन्मदिवस पर पहनी है 🙂

(Visited 72 times, 1 visits today)